बेरोजगारी और किसान बिल के विरोध में युवा कांग्रेस सड़को  पर

बेरोजगारी और किसान बिल के विरोध में युवा कांग्रेस ने सड़को पर उतर दी कांग्रेस को संजीवनी★<सपा बसपा के स्थानीय नेताओं में कांग्रेस को लेकर चर्चा शुरू

विरेन्द्र चौधरी

पिछले एक लंबे समय से विपक्ष मर चुका था,भ्रष्टाचार की गरत में समाये होने के कारण उन्हें भाजपा द्वारा जेल भेजने का भय रहता था। अब जब भाजपा के कोरोना काल में घोटालों की चर्चा और बेरोजगारी व किसान बिल का मुद्दा मिला तो कांग्रेस ने घरों से बाहर निकलने का मादा दिखाया।जिसको लेकर दिल्ली युवा कांग्रेस पूरी जिम्मेदारी के साथ सड़कों पर है।जबकि सपा बसपा तो कागजी व्यानबाजी से भी बच रही है। ऐसे में संख्या बल भले ही कम हो,लेकिन युवा कांग्रेस ने सड़कों पर आने का साहस दिखाया,इसके लिए वे धन्यवाद के पात्र है-विरेन्द्र चौधरी

मोदी सरकार द्वारा किसान विरोधी बिल पास होने पर भारतीय युवा कांग्रेस ने किया संसद घेरावपुलिस प्रशासन के दमनकारी रवैया से युवा कार्यकर्ता हुए घायल

नयी दिल्ली-आज भारतीय युवा कांग्रेस ने किसान विरोधी ऑर्डिनेंस के खिलाफ दिल्ली में संसद का घेराव किया । राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास जी के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन में पुलिस की दमनकारी रवैया से काफी युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को गंभीर चोट आई है तथा कुछ कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।

दिल्ली प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रभारी डॉ अनिल कुमार मीणा ने बताया कि केंद्र सरकार की नौजवान और किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ भारतीय युवा कांग्रेस आज संसद का घेराव किया है | नौजवान और किसान इस देश की रीढ़ हैं। लेकिन सरकार अपने पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए एक के बाद एक इनके खिलाफ फैसले ले रही है। सड़क से लेकर संसद तक जिस कृषि बिल का विरोध हो रहा था उसे सरकार ने अपने पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए अलोकतांत्रिक तरीके से पास करवाया। बिल के खिलाफ किसान सड़क पर आंदोलन करते हैं तो उन पर डंडे बरसाए जाते हैं।

मोदी राज में युवाओं की स्थिति भी बद से बदतर होती जा रही है। 45 सालों का रिकॉर्ड तोड़ चुकी बेरोजगारी कोरोना संकट आने के बाद सारी हदें पार कर रही है। अभी देश में 30 करोड़ लोग या तो बेरोजगार हैं या अंडरएंप्लॉयड हैं और सरकार इनके लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। यही वजह है कि भारतीय युवा कांग्रेस लगातार नौजवानों और किसानों के हक की आवाज उठा रही है।
देश के किसान और युवाओं की आवाज को उठाने के लिए भारतीय युवा कांग्रेस पिछले कई लंबे समय से आंदोलन कर रही है। कोरोना महामारी की आड़ में सरकार ने अनेक काले कानून पास कर दिए हैं। देश में उठने वाले आंदोलन को महामारी के नाम पर पुलिस प्रशासन के माध्यम से दमन कर रही है। युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सोशल मीडिया प्रभारी वैभव वालिया ने देश के किसान और युवाओं की आवाज को सोशल मीडिया के प्लेटफार्म के माध्यम से उठाया है और देश के नौजवानों ने टि्वटर हेक्स्टेक के माध्यम से विश्व में प्रथम स्थान पर इन समस्याओं को ट्रेन किया है।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *