चकबंदी अधिकारी के आदेश के बावजूद काट दिये हरे भरे पेड

चकबंदी अधिकारी के आदेश के बावजूद काट दिये हरे भरे पेड़ ★ कानूनगों की भूमिका संदिग्ध

विरेन्द्र चौधरी

सहारनपुर। शेखपुरा में भूमाफियाओं द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों के आदेश के बावजूद लाखों रूपये के रहे-भरे पेड़ों को काट डाला। गाटा संख्या 356 जो जोहड़ का नम्बर है, इसमें लगभग 200 हरे-भरे पेड़ मौजूद थे। जो सरकारी संपत्ति भी थे। सूत्रों द्वारा बताया जा रहा है कि उक्त सरकारी पेड़ों को जयदीप यादव, संदीप यादव व लक्की यादव ने कटवाया है।
रमेश कुमार यादव ने एस. डी. एम. को लिखित शिकायत में बताया गया है कि गाटा संख्या 356/2 जो जौहड़ का नंबर था, इस पर कुछ लोगों ने नाजायज कब्जा कर रखा था। जिसकी शिकायत को संज्ञान लेते हुये चकबंदी विभाग के लेखपाल व कानूनगों द्वारा पैमाईश कराई गई थी। उक्त पैमाईश के समय ग्रामप्रधान भी मौके पर मौजूद थे। सरकारी अमले की पैमाइश के समय भी यूकेलिप्टिस, शीशम व पापुलर आदि के 200 पेड़ मौजूद थे। इस सम्बन्ध में चकबंदी अधिकारी द्वारा स्पष्ट निर्देश दिये गये थे कि यह पेड़ सरकारी संपत्ति है, उन्हें किसी तरह का नुकसान ना पहुँचाया जाये।
रमेश कुमार ने बताया कि चकबंदी अधिकारी के आदेशों के बावजूद जयदीप यादव, संदीप यादव व लक्की यादव द्वारा उक्त पेड़ों का कटान कर बेच दिया गया है, जबकि मौके पर अभी तक पेड़ोें की जड़े मौजूद है, जिन्हें नष्ट करने की कोशिश जारी है। इन पेड़ों के कटान से अनुमानित 5-6 लाख रूपये की राजस्व की क्षति हुई है। रमेश कुमार ने एस.डी.एम. सदर को अपनी लिखित शिकायत में कहा है कि सरकारी जौहड़ पर कब्जा करने, सरकारी संपत्ति होने के बावजूद हरे पेड़ों के कटान को लेकर कानूनी कार्यवाही के साथ ही नुकसान हुये राजस्व की वसूली की जायें। साथ ही तालाब का पुनः खुदवाया जायें। पेड़ो के कटान को लेकर कानूनगों की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है। अब देखना है कि स्थानीय प्रशासन क्या कार्यवाही अमल में लायेगा?

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *