किसानों के भुगतान को लेकर चितिंत भगत सिंह वर्मा ने मुख्यमंत्री योगी को लिखी चिट्ठी

विरेन्द्र चौधरी/डी पी सिंह

सहारनपुर। पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सहारनपुर के किसानों का 500 करोड़ गन्ना भुगतान व 500 करोड़ ब्याज का चीनी मिलों पर रूका हुआ है। इसका भुगतान सरकार कब तक करायेगी।

भगत सिंह वर्मा ने कहा कि आज गन्ने की लागत लगभग 440 रूपये प्रति कुंतल आ रही है। गन्ने का लाभकारी मूल्याकंन करते हुए सरकार को गन्ने का रेट 600 रूपये करना चाहिए। जबकि सरकार ने लगातार गन्ने पैदावार पर बढ़ती लागत के बावजूद पिछले चार साल सू कोई रेट नहीं बढ़ाया है। मुख्यमंत्री को सुझाव देते हुए लिखा है सरकार को कम से कम 50 रूपये प्रति कुंतल का भुगतान सीधे किसानों के खाते में जमा कराना चाहिए। उन्होंने कहा गन्ने से सरकार को हर साल 32000 रूपये राजस्व प्राप्त होता है। उन्होंने कहा चीनी मिल मालिक और सरकार दोनों के लिए किसान भारी मुनाफे का सौदा है,इसीलिए सरकार को किसानों की खराब होती आर्थिक स्थिति को देखते किसानों को गन्ने का अविलंब सीधे किसानों के खाते में 50 रूपये प्रति कुंतल मदद के रूप में भिजवाना चाहिए।

मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजिन्द्र चौधरी ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार किसान विरोधी है। उन्होंने कहा डीजल के बढ़ते रेटों के साथ मंहगाई बढ़ रही है।जिसके कारण किसानों के साथ – साथ आमजन भी परेशान है।

प्रदेश महामंत्री मुक्ति मोर्चा आसिम मलिक ने कहा कि गन्ने की खेती प्रदेश सरकार की रीढ़ की हड्डी है।फिर भी सरकार चीन मालिकों के साथ मिलकर किसानों का शोषण कर रही है।

बैठक में विनोद सैनी प्रदेश सचिव, मंडल उपाध्यक्षसरदार गुलविन्द्र सिंह बंटी,मंडल महामंत्री विरेन्द्र सिंह बिल्लु,जोगेंद्र सिंह, नरेश एडवोकेट, अजीत सिंह प्रधान,रविन्द्र चौधरी,प्रधान नीरज सैनी,प्रधान सुधीर चौधरी,जिला पंचायत सदस्य अरविंद चौधरी,कंवरपाल सिंह, अभिषेक चौधरी, रविन्द्र सिंह, महबूब हसन,मौहम्मद इस्लाम,फारुख मोहम्मद, सुभाष त्यागी व नैन सिंह उपस्थिति रहे।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *