सहारनपुर स्मार्ट सिटी में ठेकेदार और अवर अभियंता के लूट का खेल

स्मार्ट सिटी में नालो निर्माण में हो रहा पील्ली घटिया ईंटो का निर्माण ★ अवर अभियंता ने पत्रकार के सम्मुख माना ईंटे पील्ली है इन्हें बदलवायेगें ★ नहीं बदली ईंटे काम बदस्तूर जारी ★ नगरनिगम के जूनियर इंजीनियर व निगम ठेकेदारों द्वारा भ्रष्टाचार चरम पर

विरेन्द्र चौधरी

सहारनपुर। महानगर सहारनपुर में स्मार्ट सिटी की भावना और कल्पना के अनुसार पक्के नाले बनाये जा रहे है। प्रदेश सरकार और नगर निगम के मानको के अनुसार सरकारी कार्यों में ‘ ‘ क्लास क्वालिटी का मैटिरियल इस्तेमाल किया जाता है।

अफसोस की बात है कि भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश और भ्रष्टाचार मुक्त भारत के नारे आपकी सरकार द्वारा लगाये जा रहे है। लेकिन आपके निगम अधिकारियों व ठेकेदारों ने पूरे शहर में निगम द्वारा बनाये जा रहे नालों में सड़कों में घटिया साम्रगी का उपयोग कर आपको और आपकी सरकार को बदनाम किया जा रहा है। हद तो तब हो गयी जब प्राथी विरेन्द्र चौधरी पत्रकार के निवास के सामने जो नाला बन रहा है,उसमें पीली व घटिया ईंटों का इस्तेमाल हो रहा है।नाले बनते ही टूट रहे है।यह नाला भी घटिया साम्रगी व पीली ईटों के इस्तेमाल के कारण निश्चित बनते बनते ही टूट जायेगा।जो गंदगी का कारण बनेगा। और हमारे लिए बिमारियों का जन्मदाता व सिरदर्द बन जायेगा। इस से आपकी और आपकी सरकार की भारी बदनामी होगी।
आपसे अनुरोध है कि आप जूनियर इंजीनियर व ठेकेदारों की इस काली करतूत व मानको के अनुरूप साम्रगी ना लगाकर जनता व सरकार के साथ भी धोखाधड़ी कर रहे है। आप इस शिकायत की जांच कराकर दोषी अधिकारी को दंडित व ठेकेदार को ब्लैकलिस्टेड कर उसका भुगतान पर रोक लगाई जाये।साथ ही इस भ्रष्टाचार के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया जायें। विशेष : हाल मेें इसी सडक की दूसरी साइड में नाले का निर्माण हुुुआ था उसमें भी घटिया साम्रगी का उपयोग हुआ था। उसकी भी जांच होनी चाहिए।

इस घटिया निर्माण को लेकर निगम के अवर अभियंता राम प्रसाद यादव से शिकायत करने पर अवर अभियंता मौके पर पंहुचे और उन्होंने माना नाला निर्माण में पील्ली ईटे इस्तेमाल की जा रही है।मौके पर भी पीली ईटों का चट्टा लगा था। इस संबध में ठेकेदार से पुछताछ के बजाय अवर अभियंता चुपचाप निकल गये। इससे सपष्ट हो गया कि इस निर्माण में मोटा खेल खेला जा रहा है।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *